Image of Microorganism

जैविक खतरा

यदि कोई जैविक खतरा हो तोयदि आपको आसपास किसी अस्वाभाविक और संदेहास्पद पदार्थ का पता लगता है तो अपना बचाव करने में कोई तकलीफ नहीं है। अपने नाक, मुँह, आँखों और त्वचा में कट के बचाव के लिये उपलब्ध कराने के लिये तैयार रहें

  • अपने मुँह और नाक को कपड़े की तहों से ढंक लें जिससे हवा छन सके पर साँस जा सके। उदाहरण के लिये, सूती कपड़े की दो-तीन तहें जैसे कि टी-शर्ट, रूमाल या तौलिया। अन्यथा, टिश्यू पेपर की कई तहें या कागज के तौलिये की कई तहें भी मदद कर सकती हैं।
  • साबुन और पानी से धोयें।
  • अधिकारियों से संपर्क करें।

अपनी नाक और मुँह को ढँकें

अपने नाक, मुँह, आँखों और त्वचा में कट के बचाव के लिये आपके हाथ में जो कुछ भी हो उसे उपलब्ध कराने के लिये तैयार रहें। कोई भी चीज जो आपकी नाक और मुँह पर अच्छी प्रकार फिट हो सकती हो, जिसमें गाढ़ा बुना हुआ कपड़ा आपातकाल में मिलावटों को छानने में मदद कर सकता है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जिस हवा में आप साँस लेते हैं, वह अधिकाँश मास्क या कपड़े में से होकर आये न कि इसके चारों ओर से। बच्चों के लिये जो भी सबसे अच्छी तरह संभव हो उसे फिट करें। हार्डवेयर स्टोरों में विभिन्न प्रकार के चेहरे के मास्क भी उपलब्ध हैं जिनकी दर इस बात पर तय की जाती है कि किसी औद्योगिक सैटिंग में वे कितने बारीक कण को छान सकते हैं। कपड़े का साधारण मास्क हवा में मिले हुये कुछ "बेकार" या रोगाणुओं को छान सकता है जो साँस के साथ आपके शरीर में जा सकते हैं, परंतु संभवतः आपका रासायनिक गैसों से आपका बचाव नहीं करेगा। फिर भी, आपकी नाक और मुँह के ऊपर आपातकाल में कुछ भी न होने से कुछ भी होना बेहतर है।

एण्टीबॉयोटिक्स

जहाँ एण्टीबॉयोटिक्स जैविक हथियारों से संबंधित बीमारियों के लिये अक्सर एक उचित उपचार है, वहीं बीमारी से मिलान करने वाली विशिष्ट प्रभावी होती है। उदाहरण के लिये, एक एण्टीबॉयोटिक्स एंथ्रेक्स के सामने पर उचित उपचार हो सकता है, परंतु चेचक के उपचार के लिये अनुचित। सभी एण्टीबॉयोटिक्स के कारण विपरीत प्रभाव हो सकते हैं, जिसमें गंभीर प्रतिक्रियायें शामिल हैं। अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से पहले से ही इस बारे में बात करने की योजना बनाना समझदारी है।

सामान्य समझदारी का प्रयोग करें

किसी घोषित जैविक आपातकाल के समय, यदि परिवार का कोई सदस्य बीमार हो जाता है तो संदेह करना महत्वपूर्ण होता है। स्वतः ही माने नहीं, हालाँकि, आपको अस्पताल के आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में जाना चाहिये या कोई बीमारी जैविक हमले का परिणाम है। कई सामान्य बीमारियों के लक्षणों में समानता हो सकती है। सामान्य समझदारी, अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता और सफाई को अपनायें जिससे रोगाणुओं का प्रसार रूक सके, और चिकित्सीय सलाह लें।

  • स्वस्थ रहें। अच्छी तरह भोजन करें। खूब आराम करें।
  • यह निर्धारित करने के लिये कि क्या तुरंत खतरा है, सामान्य समझदारी का प्रयोग करें।
  • साबुन और पानी से अपने हाथों को बार-बार धोयें
  • किसी घोषित जैविक आपातकाल या विकसित होती महामारी में भीड़ से दूर रहने के कारण हो सकते हैं जहाँ दूसरे लोग संक्रमित हो सकते हैं।
  • ऐसे समय भी हो सकते हैं जब आपको चेहरे के मास्क को पहनना पड़ सकता है जिससे यदि आप बीमार हैं तो रोगणुओं का फैलना कम हो जायेगा, या यदि आपके आसपास के लोग बीमार हैं तो संक्रामक रोगाणुओं के संपर्क में आने से बचा जा सकता है।

जैविक खतरा

परिचय

एक जैविक हमला सुविचारित रूप से रोगाणुओं या अन्य जैविक पदार्थों को छोड़ना है जो कि आपको बीमार बना सकते हैं। सूँघे गये, कटी त्वचा के माध्यम से अंदर गये या खाये गये कई एजेंट्स आपको बीमार बना सकते हैं। कुछ जैविक एजेंट्स जैसे कि एंथ्रेक्स संक्रामक रोग नहीं फैलाते हैं। अन्य, जैसे कि चेचक के वायरस के फलस्वरूप आप दूसरे लोगों से बीमारी पकड़ सकते हैं।

यदि कोई जैविक खतरा हो तो

एक विस्फोट के विपरीत, एक जैविक हमला तत्काल भी स्पष्ट हो सकता है और नहीं भी। जबकि यह संभव है कि आप एक जैविक हमले के लक्षण देखेंगे, जैसा कि कभी एंथ्रेक्स डाक के मामले में हुआ था, इसकी शायद अधिक संभावना है कि स्थानीय स्वास्थ्य देखभाल कार्यकर्ता असामान्य बीमारी के एक पैटर्न की रिपोर्ट करेंगे या आपातकालीन चिकित्सा सहायता की मांग करने वाले बीमार लोगों की एक लहर आयेगी। आपको शायद खतरे की स्थिति के बारे में आपातकालीन रेडियो या टीवी प्रसारण, या समुदाय में प्रयोग किये जाने वाले अन्य किसी संकेत के माध्यम से पता लगेगा। आपको शायद कोई टेलीफोन कॉल आ सकता है या फिर कोई आपातकालीन प्रतिक्रिया कार्यकर्ता आपके दरवाजे पर आ सकता है।जैविक हमले की दशा म, जन स्वास्थ्य अधिकारी शायद आपको यह जानकारी तुरंत उपलब्ध न करा पायें कि आपको क्या करना चाहिये। यह निर्धारित करने में समय लगेगा कि वास्तव में बीमारी क्या है, इसका उपचार कैसे किया जाना चाहिए और खतरे में कौन है। फिर भी, आपको टी.वी. देखना चाहिये, रेडियो सुनना चाहिये, या आधिकारिक समाचारों के लिये इंटरनेट पर देखना चाहिये, जिसमें निम्नलिखित शामिल हैं:

  • क्या आप ऐसे समूह या क्षेत्र में हैं जिसको अधिकारी खतरे में मानते हैं?
  • बीमारी के संकेत और लक्षण क्या हैं?
  • क्या दवाईयाँ या टीके वितरित किये जा रहे हैं?
  • कहाँ? उन्हें किसको लेना चाहिये?
  • यदि आप बीमार हो जाते हैं तो आपातकालीन चिकित्सीय देखभाल कहाँ से पानी चाहिये?

एक घोषित जैविक आपातकाल के दौरानः

  1. यदि कोई परिवार का सदस्य बीमार हो जाता है, तो यह महत्वपूर्ण है कि संदेह करें
  2. माने नहीं, हालाँकि, आपको अस्पताल के आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में जाना चाहिये या कोई बीमारी जैविक हमले का परिणाम है। कई सामान्य बीमारियों के लक्षणों में समानता हो सकती है।
  3. सामान्य जानकारी, अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता और सफाई को अपनायें जिससे रोगाणुओं का प्रसार रूक सके, और चिकित्सीय सलाह लें
  4. विचार करें कि क्या आप उस समूह या क्षेत्र में हैं जिसे अधिकारी खतरे में समझते हैं।
  5. यदि आपके लक्षण बताये गये लक्षणों से मेल खाते हैं और आप उस समूह में हैं जो खतरे में माना गया है, तो तुरंत आपातकालीन चिकित्सीय ध्यान को आकर्षित करें

यदि अच्छी तरह से सामने आ चुके हैं:

  1. चिकित्सकों और जन स्वास्थ्य अधिकारियों के निर्देशों का पालन करें।
  2. यदि बीमारी संक्रामक है तो चिकित्सीय जाँच और उपचार पाने की अपेक्षा करें। आपको दूसरे लोगों से दूर रहने के लिये कहा जा सकता है या फिर विशेष रूप से अलग रखा जा सकता है।
  3. असंक्रामक बीमारी के लिये, चिकित्सीय जाँच और उपचार पाने की अपेक्षा करें।

यदि आपको आसपास किसी अस्वाभाविक और संदेहास्पद पदार्थ का पता चलता है तोः

  1. तुरंत दूर हट जायें।
  2. अपना बचाव करे। अपने मुँह और नाक को कपड़े की तहों से ढंक लें जिससे हवा छन सके पर साँस जा सके। उदाहरण के लिये, सूती कपड़े की दो-तीन तहें जैसे कि टी-शर्ट, रूमाल या तौलिया। अन्यथा, टिश्यू पेपर की कई तहें या कागज के तौलिये की कई तहें भी मदद कर सकती हैं।
  3. साबुन और पानी से धोयें।
  4. अधिकारियों से संपर्क करें।
  5. टी.वी. देखें, रेडियो सुनें, या आधिकारिक समाचारों और जानकारियों के लिये इंटरनेट पर देखें जिसमें शामिल हैं कि बीमारी के संकेत और लक्षण क्या हैं, क्या दवाईयाँ या टीके वितरित किये जा रहे हैं और यदि आप बीमार हो जाते हैं तो आपातकालीन चिकित्सीय देखभाल कहाँ से पानी चाहिये।
  6. यदि आप बीमार हो जाते हैं तो आपातकालीन चिकित्सीय देखभाल को आकर्षित करें।

अपना बचाव करें

अपना बचाव करें

यदि आपको आसपास किसी अस्वाभाविक और संदेहास्पद पदार्थ का पता लगता है तो अपना बचाव करने में कोई तकलीफ नहीं है। अपने नाक, मुँह, आँखों और त्वचा में कट के बचाव के लिये उपलब्ध कराने के लिये तैयार रहें

  • अपने मुँह और नाक को कपड़े की तहों से ढंक लें जिससे हवा छन सके पर साँस जा सके। उदाहरण के लिये, सूती कपड़े के दो-तीन तहें जैसे कि टी-शर्ट, रूमाल या तौलिया। अन्यथा, टिश्यू पेपर की कई तहें या कागज के तौलिये की कई तहें भी मदद कर सकती हैं।
  • साबुन और पानी से धोयें।
  • अधिकारियों से संपर्क करें

अपनी नाक और मुँह को ढंक लें

अपने नाक, मुँह, आँखों और त्वचा में कट के बचाव में सुधार के लिये जो भी आपके हाथ में हो उसे उपलब्ध कराने के लिये तैयार रहें। कोई भी चीज जो आपकी नाक और मुँह पर अच्छी प्रकार फिट हो सकती हो, जिसमें गाढ़ा बुना हुआ कपड़ा आपातकाल में मिलावटों को छानने में मदद कर सकता है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जिस हवा में आप साँस लेते हैं, वह अधिकाँश मास्क या कपड़े में से होकर आये न कि इसके चारों ओर से। बच्चों के लिये जो भी सबसे अच्छी तरह संभव हो उसे फिट करें। हार्डवेयर स्टोरों में विभिन्न प्रकार के चेहरे के मास्क भी उपलब्ध हैं जिनकी दर इस बात पर तय की जाती है कि किसी औद्योगिक सैटिंग में वे कितने बारीक कण को छान सकते हैं। कपड़े का साधारण मास्क हवा में मिले हुये कुछ "बेकार" या रोगाणुओं को छान सकता है जो साँस के साथ आपके शरीर में जा सकते हैं, परंतु संभवतः आपका रासायनिक गैसों से आपका बचाव नहीं करेगा। फिर भी, आपकी नाक और मुँह के ऊपर आपातकाल में कुछ भी न होने से कुछ भी होना बेहतर है।

एण्टीबॉयोटिक्स

जहाँ एण्टीबॉयोटिक्स जैविक हथियारों से संबंधित बीमारियों के लिये अक्सर एक उचित उपचार है, वहीं बीमारी से मिलान करने वाली विशिष्ट प्रभावी होती है। उदाहरण के लिये, एक एण्टीबॉयोटिक्स एंथ्रेक्स के सामने पर उचित उपचार हो सकता है, परंतु चेचक के उपचार के लिये अनुचित। सभी एण्टीबॉयोटिक्स के कारण विपरीत प्रभाव हो सकते हैं, जिसमें गंभीर प्रतिक्रियायें शामिल हैं। अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से पहले से ही इस बारे में बात करने की योजना बनाना समझदारी है।

सामान्य समझदारी का प्रयोग करें

किसी घोषित जैविक आपातकाल के समय, यदि परिवार का कोई सदस्य बीमार हो जाता है तो संदेह करना महत्वपूर्ण होता है। स्वतः ही माने नहीं, हालाँकि, आपको अस्पताल के आपातकालीन चिकित्सा कक्ष में जाना चाहिये या कोई बीमारी जैविक हमले का परिणाम है। कई सामान्य बीमारियों के लक्षणों में समानता हो सकती है। सामान्य समझदारी, अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता और सफाई को अपनायें जिससे रोगाणुओं का प्रसार रूक सके, और चिकित्सीय सलाह लें।

  • स्वस्थ रहें। अच्छी तरह भोजन करें। खूब आराम करें।
  • यह निर्धारित करने के लिये कि क्या तुरंत खतरा है, सामान्य समझदारी का प्रयोग करें।
  • साबुन और पानी से अपने हाथों को बार-बार धोयें
  • किसी घोषित जैविक आपातकाल या विकसित होती महामारी में भीड़ से दूर रहने के कारण हो सकते हैं जहाँ दूसरे लोग संक्रमित हो सकते हैं।
  • ऐसे समय भी हो सकते हैं जब आपको चेहरे के मास्क को पहनना पड़ सकता है जिससे यदि आप बीमार हैं तो रोगणुओं का फैलना कम हो जायेगा, या यदि आपके आसपास के लोग बीमार हैं तो संक्रामक रोगाणुओं के संपर्क में आने से बचा जा सकता है।

लक्षण और स्वच्छता

लक्षण और स्वच्छता

लक्षणयदि परिवार के किसी सदस्य में नीचे दिये गये लक्षणों में से कोई भी लक्षण विकसित होता है, तो उनको संभवतः और सदस्यों से अलग रखें, अच्छी स्वच्छता और सफाई बनाकर रखें जिससे रोगाणुओं का फैलना रूक सके और चिकित्सीय सलाह लें।

  • 100 डिग्री से अधिक का तापमान
  • मितली या वमन
  • पेट में दर्द
  • डायरिया
  • पीला या बहा हुआ सा चेहरा
  • सरदर्द
  • खाँसी
  • कान में दर्द
  • नाक से गाढ़ा बहाव
  • खराब गला
  • त्वचा पर चकत्ते या संक्रमण
  • लाल या गुलाबी आँखें
  • भूख में कमी
  • ऊर्जा में हानि या गतिविधियों में कमी

स्वच्छतायदि कोई बीमार है, तो आप अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता और सफाई को अपनायें जिससे रोगाणुओं का प्रसार रूक सके।

  • साबुन और पानी से अपने हाथों को बार-बार धोयें।
  • भोजन और बर्तनों को साझा न करें।
  • खाँसते या छींकते वक्त अपने मुँह और नाक को ढँक लें।
  • बीमार व्यक्ति को मास्क पहनाने पर विचार करें जिससे रोगाणुओं का प्रसार रूक सके।
  • स्वास्थ्य संबंधी जानकारी को दूसरे लोगों के साथ साझा करने की योजना बनायें, विशेषकर उनके साथ जिनको स्थिति को समझने और उठाये जाने वाले विशिष्ट कदमों के बारे में मदद की जरूरत है।

साफ हवा

कुछ संभावित आपातकाल बहुत छोटे "बेकार" कणों को हवा में भेज सकते हैं। उदाहरण के लिए, बाढ़ आने से हवा में प्रवाहित मोल्ड हो सकते हैं जो आपको बीमार बना सकते हैं और कोई विस्फोट बहुत बारीक मलबा बना सकता है जो कि फेफड़ों के नुकसान का कारण बन सकता है। एक जैविक आतंकवादी हमले में रोगाणुओं को छोड़ा जा सकता है जो सूँघ लिये जान पर या खुले घावों के माध्यम से अवशोषित होने पर आपको बीमार कर सकते हैं। इनमें से इनेक एजेंट्स केवल तभी नुकसान पहुँचाते हैं जब वे शरीर में अंदर जाते हैं, अतः अपने और किसी दूषण के बीच किसी अवरोध को तैयार करने के बारे में विचार करें।

नाक और मुँह का बचाव

चेहरे के मास्क या गाढ़ा बुना हुआ सूती कपड़ा जो आपकी नाक और मुँह को अच्छी प्रकार से ढँक लेता है और परिवार के हर सदस्य के लिये विशेष रूप से फिट हो। बच्चों के लिये जो भी सबसे अच्छी तरह संभव हो उसे फिट करें।अपने नाक, मुँह, आँखों और त्वचा में कट के बचाव के लिये आपके हाथ में जो कुछ भी हो उसे उपलब्ध कराने के लिये तैयार रहें। कोई भी चीज जो आपकी नाक और मुँह पर अच्छी प्रकार फिट हो सकती हो, जिसमें गाढ़ा बुना हुआ कपड़ा आपातकाल में मिलावटों को छानने में मदद कर सकता है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जिस हवा में आप साँस लेते हैं, वह अधिकाँश मास्क या कपड़े में से होकर आये न कि इसके चारों ओर से।बच्चों के लिये जो भी सबसे अच्छी तरह संभव हो उसे फिट करें। हार्डवेयर स्टोरों में विभिन्न प्रकार के चेहरे के मास्क भी उपलब्ध हैं जिनकी दर इस बात पर तय की जाती है कि किसी औद्योगिक सैटिंग में वे कितने बारीक कण को छान सकते हैं।विभिन्न प्रकार के आपातकालों को ध्यान में रखते हुये जो हो सकते हैं, आपके और किसी हवा दूषण के बीच किसी अवरोध को तैयार करने का कोई एक ही तरीका नहीं है। कपड़े का साधारण मास्क हवा में मिले हुये कुछ कणों या रोगाणुओं को छान सकता है जो साँस के साथ आपके शरीर में जा सकते हैं, परंतु संभवतः आपका रासायनिक गैसों से आपका बचाव नहीं करेगा। फिर भी, आपकी नाक और मुँह के ऊपर आपातकाल में कुछ भी न होने से कुछ भी होना बेहतर है। बाह्य पदार्थ की सूँघी गयी को सीमित करने से यह प्रभाव पड़ सकता है कि आप बीमार होंग या बीमारी पकड़ेंगे या नहीं।

अन्य अवरोध

  • प्लास्टिक के कचरे वाले भारी थैले या प्लास्टिक की चादरें
  • नली वाला टेप
  • कैंची

ऐसे हालात भी होते हैं जब बने रहना और अपने व संभावित दूषित हवा के बीच एक अवरोध बनाना, जिसे "जगह में शरण" (अंग्रेजी में) प्रक्रिया के रूप में जाना जाता है, एक अस्तित्व की बात है। अगर आपको कमरे को बाहर के संदूषण से सील करने की जरूरत है तो आप इन चीजों का इस्तेमाल खिड़कियों, दरवाजों और हवा के निकासों को टेप करने के लिए उपयोग करते हैं। इन सामग्रियों को पहले से काटने और लेबलिंग करने पर विचार करें। कोई भी चीज जो आप पहले से ही कर लेंगे, उस समय वक्त में बचत करेगी जब यह महत्वपूर्ण होता है।स्थिति का जायजा लेने के लिये उपलब्ध जानकारी का इस्तेमाल करें। यदि आप हवा में भारी मात्रा में मलबा देखते हैं, या स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि हवा बुरी तरह से संदूषित है, तो आप इन चीजों का इस्तेमाल खिड़कियों, दरवाजों और हवा के निकासों को टेप करने के लिए उपयोग करते हैं।

HEPA (उच्च दक्षता पार्टिकुलेट हवा छन्न्क) फिल्टर पंखे

एक बार जब आप प्लास्टिक की चादर से और डक्ट टेप के साथ कमरे को सील कर देते हैं तो आपके और बाहर के किसी भी संदूषण के बीच एक बेहतर अवरोध पैदा हो सकता है। हालाँकि, कोई भी सील संपूर्ण नहीं होती है और कुछ लीकेज की संभावना रहती है। इसके अलावा, आप अपने आप को उस जगह पा सकते हैं जहाँ कुछ हद तक संदूषण है।एक HEPA फिल्टर के साथ किसी पोर्टेबल हवा शुद्धक के बारे में विचार करें, जिससे आपके शरण वाले कमरे से संदूषणों को निकालने में मदद मिलेगी। इन उच्च दक्षता वाले फिल्टरों में बारीक जालियाँ होती हैं जो बहुत छोटे कणों को पकड़ लेती हैं जिनमें कुछ जैविक एजेंट्स भी शामिल हैं। HEPA फिल्टर में एक बार फंस जाने पर संदूषण आपके शरीर में नहीं जा सकता है और आपको बीमार नहीं कर सकता है। जहाँ ये फिल्टर रूसी, धूल, मोल्ड्स,धुँये, जैविक एजेंटों और अन्य संदूषणों को फिल्टर करने में अति उत्तम हैं, वहीं ये रासायनिक गैसों को नहीं रोकेंगे।कुछ लोग, विशेकर वे जो गंभीर एलर्जियों और दमे से ग्रस्त हैं, HEPA फिल्टरों को अपने मास्क, पोर्टेबल हवा शुद्धक और साथ ही बड़े घरों या औद्योगिक मॉडलों में हवा को लगातार फिल्टर करने के लिये प्रयोग करते हैं।